एहसास मेरे !!!

कुछ अजीब से एहसास है मेरे साथ, कुछ अजीब सी यांदें  है, कुछ प्यारे से ख्वाब है पुरे करने को तो कुछ अधूरी सी ख़्वाहिशें हैं। मेरी भी हालत कुछ अलग नहीं है तुमसे बस हस कर दूसरों को बेवकूफ़ बनाना सिख लिया है।  भूलने की कोशिश की थी तुम्हे मैंने, लेकिन अगर भूलना इतना … More एहसास मेरे !!!

आखिरी पैग़ाम

चाहत ना थी लिखने की ये खत तेरे नाम पर लेकिन आगया प्यार अपने अंजाम पर । कैसे बताऊं कितना मजबूर सा होने लगा एहसास अपने आप पर, हर दिन हर रात अजीब सी होने लगी है अब मेरी , शायद कमी खलने सी लगी है अब तेरी । जैसे जैसे वक्त गुजर रहा है … More आखिरी पैग़ाम

काश कोई हो ऐसा जो चाहे तुझे मुझ जैसा

काश कोई हो ऐसा जो चाहे तुझे मुझ जैसा, थामे तेरा हाथ चाहे जो भी हो बात। खुशी दे तुझे चाहे हो ना तेरे साथ, दिल में तेरे इस कदर बस जाए कि दूरी तुझे नजर ना आए आशियाना तेरा यू सजाए जैसे रोशन जहान तेरा हाेजाए। चाहत में उसकी कोई कसर ना रह जाए … More काश कोई हो ऐसा जो चाहे तुझे मुझ जैसा